Home लाइफ स्टाइल ब्यूटी बरसात के मौसम में वाटर प्रूफ मेकअप | Tips for makeup In...

बरसात के मौसम में वाटर प्रूफ मेकअप | Tips for makeup In Hindi

80
0

इस आर्टिकल में हम बरसात के मौसम में वाटर प्रूफ मेकअप | Tips for makeup In Hindi के बारे में जानेंगे और जानेगे की किस तरह से हम बरसात के मौसम में वाटर प्रूफ मेकअप कर सकते है।

Tips for makeup

Tips for makeup In Hindi

बरसात के मौसम में मेकअप करना तो आसान है। लेकिन उसे टिकाए रखना बहुत मुश्किल होता है। क्योंकि कई बार जरा सी बरसात में आपका मेकअप धूल जाता है।

बरसात के मौसम में कई बार आप वाटर प्रूफ मेकअप करवाते हैं। जो सामान्य मेकअप की अपेक्षा महंगा भी होता है। लेकिन इस मेकअप को कराने के साथ ही कुछ बातों पर भी ध्यान देना होगा। ताकि बरसात का असर आपके मेकअप पर न हो और आप सुंदर नजर आए।

बारिश के मौसम में मेकअप कराने से पहले आप इन बातों पर ध्यान दें। ताकि आपका मेकअप भी लंबे समय तक चेहरे पर टिका रहे और आपको भी फ्रेश लुक मिले। इसलिए अगर आप इन टिप्स को अपनाएंगे तो फायदे में रहेंगे।

इसे भी पढ़ेंः –वजन कम करने के 5 घरेलु उपाय

बरसात के मौसम में वाटर प्रूफ मेकअप

बालों को रखें स्ट्रेट

बरसात के मौसम में नमी से बाल फ्रिजी, चिपचिपे और बिखरे हुए नजर आते हैं। इस मौसम में आप हेयर स्ट्रेटनिंग का विकल्प चुन सकते हैं। जो आप के मेकअप के साथ मैच करेगा और आपको बेहतर लुक देगा।

काजल से परहेज

लड़कियों के लिए आंखों में काजल लगाना सुंदरता की निशानी है। लेकिन यह काजल बरसात में फैल जाता है ऐसे में आपका चेहरा और आंखों के आसपास का हिस्सा भी बेकार दिखने लगता है।

उस पर डार्क सर्कल नजर आने लगते हैं। इसलिए आप बरसात के मौसम में काजल और आई मेकअप से बचे, अगर आपको काजल लगाना ही है। तो वाटरप्रूफ काजल पेंसिल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

लिक्विड क्रीम का उपयोग 

बरसात के मौसम में आप फाउंडेशन की अपेक्षा ऑयल फ्री फाउंडेशन या लिक्विड क्रीम का इस्तेमाल करें। क्योंकि यह आपके चेहरे को ना तो ड्राई रखता है और ना ही चिपचिपा रखता है। इससे आपका मेकअप भी बना रहेगा।

इसे भी पढ़ेंः  एप्पल साइडर विनेगर के फायदे

वाटर प्रूफ मसकारा का उपयोग

यदि आप बरसात के मौसम में मसकारा का इस्तेमाल कर रहे हैं। तो वह वाटर प्रूफ होना चाहिए या फिर क्लियर मसकारा भी लगा सकते हैं।

इसी के साथ ग्लिटर आईशेडो का उपयोग भी बरसात में ठीक नहीं रहता है। क्योंकि हवा में मौजूद नमी के कारण ग्लिटर चिपचिपा और धब्बेदार हो सकता है और यह आपकी आंखों में भी जा सकता है। इसलिए बरसात के मौसम में इसे लगाने से परहेज करें।

Previous articleवजन कम करने के 5 घरेलु उपाय | Tips for weight loss in Hindi
Next articleब्लू टी के फायदे | Blue tea benefits In Hindi