Home लाइफ स्टाइल खड़े होकर भोजन न करें | Khade hokar khana khane ke nuksan

खड़े होकर भोजन न करें | Khade hokar khana khane ke nuksan

119
0

इस आर्टिकल में हम खड़े -खड़े भोजन करने के नुकसान | Khade hokar khana khane ke nuksan के बारे में जानेंगे और जानेगे की खड़े -खड़े भोजन करने के नुकसान क्या -क्या है।

Khade hokar khana khane ke nuksan

Khade hokar khana khane ke nuksan

खड़े -खड़े भोजन करना आजकल फैशन बनता जा रहा है। लेकिन क्या आप जानते है कि खड़े -खड़े भोजन करने से हमारे शरीर को काफी नुकसान होते हैं। तो आइए जानते हैं खड़े -खड़े भोजन करने से शरीर पर क्या दुष्प्रभाव पड़ते हैं।

शादी हो, पार्टी हो या अन्य कोई फंक्शन, आजकल खड़े-खड़े भोजन करने का फैशन हो गया है। लोग इसे अपनी शान समझते हैं। लेकिन खड़े -खड़े भोजन करने की अपेक्षा बैठकर भोजन करना ही सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

पुराने समय से ही बैठकर भोजन करने की परंपरा चली आ रही है। लेकिन कई लोग अब खड़े-खड़े भोजन करने लग गए हैं।

तो कई लोग डाइनिंग टेबल पर बैठकर भोजन करते हैं। जिन लोगों को कमर, हाथ , पैर, जोड़ो आदि में दर्द है। वह तो ठीक है।

लेकिन जो लोग आराम से नीचे बैठकर भोजन कर सकते हैं। उन्हें निचे बैठकर ही भोजन करने बैठना चाहिए। क्योंकि यह शरीर के लिए फायदेमंद होता है।

इसे भी पढ़ेंः –ये योगासन तेजी से घटाता है वजन

खड़े -खड़े भोजन करने के नुकसान

भोजन आराम से कीजिये

जब आप खड़े -खड़े भोजन करते हैं। तो एक हाथ में आपको थाली पकड़ना होती है और एक हाथ से आप खाते हैं। जरा सा बैलेंस गड़बड़ होने पर थाली गिरने का भी भय रहता है।

ऐसे में व्यक्ति का खाने से ज्यादा बैलेंस बनाने में भी ध्यान रहता है। अगर आप वही भोजन बैठ कर करते हैं, तो आपको किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होती है। इसलिए शांति से बैठ कर किया गया भोजन ही सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

कैलोरी बढ़ने का खतरा 

खड़े -खड़े भोजन करने से व्यक्ति अधिक भोजन कर लेता है। जिससे उनके शरीर में एक्स्ट्रा कैलोरी एकत्रित हो जाती है। जिससे मोटापा बढ़ता है और यह शरीर के लिए फायदेमंद नहीं होता है।

आंतें सिकुड़ने की समस्या 

खड़े -खड़े भोजन करने से हमारी आंतें सिकुड़ जाती है और भोजन भी ठीक से पचता नहीं है। जिसका असर हमारे शरीर पर पड़ता है। इससे पेट से संबंधित समस्याएं जैसे कब्ज, एसिडिटी आदि हो जाती है।

कमर पर पड़ता है विपरीत प्रभाव

खड़े-खड़े भोजन करने से हमारे पैर कमर पर भी विपरीत प्रभाव पड़ता है। कमर में दर्द होने लगता है और खड़े-खड़े भोजन करने से व्यक्ति का दिमाग भी संतुलित नहीं रहता है। ऐसे में वह चिड़चिड़ा भी हो जाता है।

पाचन तंत्र गड़बड़

खड़े-खड़े भोजन करने से व्यक्ति को अपनी भूख भी अंदाज नहीं रहता है और वह ज्यादा खा लेते हैं। जो पचने में भी परेशानी होती है। इस कारण बैठकर भोजन करना चाहिए। जो शरीर के लिए फायदेमंद होता है।

अल्सर होने का खतरा 

व्यक्ति खड़ा रहता है तो गले से पेट तक भोजन और पानी ले जाने वाली नली भी प्रभावित होती है। जिससे अल्सर की समस्या भी पैदा हो सकती है। इसलिए खड़े -खड़े भोजन नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ेंः –सायनॉसिस क्या है उसके कारण और उपचार

पेट दर्द और सूजन की समस्या 

खड़े -खड़े भोजन करने से भोजन सीधा आंतों में जाता है। इस कारण से आपको पेट में दर्द, सूजन आदि समस्या हो सकती है। इसी के साथ फेट जमा होने के कारण मोटापा बढ़ता है। इस कारण खड़े -खड़े भोजन नहीं करना चाहिए।

Previous articleकाला नमक खाने के फायदे | kala namak ke fayde
Next articleशुक्राणुओं को प्रभावित करता है कोरोना | Corona ka dushprabhav